शुक्रवार, 15 जनवरी 2010

गद्दी के कद्दू होशियार : टी वी दर्शन आपके स्वास्थ्य के लिये हानिकारक है

जर्नल आफ अमेरिकन हार्ट एसोसिएशन के अनुसार गद्दी पर बैठ प्रतिदिन प्रत्येक घन्टे टी वी देखने वाले को हृदय की रक्त वाहिनियो के रोगो से मृत्यु का खतरा बढता जाता है।

आस्ट्रेलियाई अनुसंधानियो ने ८८०० वयस्को के जीवन शैली का अवलोकन किया और पाया कि टी वी के सामने बिताए गए प्रत्येक घन्टे ने उनके सभी बीमारियो से पैदा मृत्यु के खतरे को ११ % बढाया, और् कैन्सर से मृत्यु के खतरे को ९ %, तथा हृदय की रक्त वाहिनियो के रोगो से मृत्यु के खतरे को १८ % बढाया। अर्थात टीवी दर्शन न केवल हृदय की रक्त वाहिनियो के रोगो को बढाता है वरन अन्य सभी रोगो के खतरे को भी बढाता है!!

प्रतिदिन दो घन्टे से कम देखने वालो की तुलना में ४ घन्टे देखने वालो को सभी कारणो से मृत्युका खतरा ४६ % अधिक था, और हृदय की रक्त वाहिनियो के रोगो से खतरा ८० % अधिक था!! और् ऐसा भी पाया कि उपरोक्त खतरे का बढना हृदय की रक्त वाहिनियो के रोगो के अन्य कारणो जैसे सिगरेट पीने, उच्च रक्त चाप, जंक भोजन, तोद और व्यायाम आदि से प्रभावित नहीं था, अर्थात यह दोनो कार्य एक दूसरे से स्वतंत्र होकर कार्य करते हैं।

उपरोक्त अवलोकन यह भी इंगित करते हैं कि कोई भी लम्बे बैठे- बैठे किए गए दैनिक कार्य, जैसे कम्प्यूटर पर कार्य, स्वास्थ्य पर खतरा बढा सकते हैं। विक्टोरिया (आस्ट्रेलिया) में एक हृदय एवं मधुमेह संस्थान है, उसमें उपापचय (मेटाबोलिज़म) तथा मोटापा विभाग है, जिसके शारीरिक गतिविधि अनुभाग के प्रोफ़ैसर एवं अध्यक्ष तथा डा (पीएचडी) डेविड डन्स्टन का कहना है कि मानव शरीर का विकास लम्बे समय तक बैठने के लिये नहीं वरन गतिशील रहने के लिये हुआ है।

उस लेख के प्रथम लेखक डन्स्टन ने कहा कि प्रौद्योगिकी, सामाजिक तथा आर्थिक परिवर्तनो के फ़लस्वरूप अब मनुष्य को अपनी पेशियां का उपयोग करने का अवसर कम मिलता है।अधिकांश मनुष्य तो एक कुर्सी से दूसरी कुर्सी, एक कार से दूसरी कार – बल्कि कार की सीट से टीवी के सामने की कुर्सी तक ही हिलते डोलते है।

उन्होने कहा कि, “यदि कोई व्यक्ति स्वस्थ्य है, और उसका वजन ठीक है, वह भी यदि लम्बे समय तक बैठे ठाले कार्य करता है तब उसके शरीर की रक्त शर्करा तथा वसा पर बुरा असर पडता है!!

इस शोध में ग्लूकोज़-सह्यता की मौखिक तथा रक्त के नमूनो की रासायनिक जांच की गई है।उऩ्होने कहा कियद्यपि यह शोध आस्ट्रेलियाई वयक्तियो पर की गई है, तथापि यह सभी मनुष्यो पर लगती है।आस्ट्रेलियाई औसतन तीन घन्टे प्रतिदिन टीवी देखता है और अमरीकी आठ घन्टे; अमेरिका में अधिक वजन तथा मोटापे से पीडित लोगो का अनुपात दो तिहाई है।

उनका निष्कर्ष सीधा साधा है - “ अधिक बैठना स्वास्थ्य के लिये हानिकारक है"।

गद्दी के कद्दू होशियार।

-विश्व् मॊहन तिवारी

साभार - कल्किओंन.कॉम

2 टिप्‍पणियां:

शुभम जैन ने कहा…

bahut hi sundar blog hai aapka... aur mujhe aapka jain dharam wala blog bahut achcha laga...itne sundar bhajan mile mujhe wahan iske liye shukriya aapka...lekin wahan comment nahi ho pa rha...shayd seting kikoi problem hogi...use thik ek baar aap dekh lijiye...
aabhar sahit,
shubham

tulsibhai ने कहा…

" bahut hi rochak aur badhiya jankari ke liye aapka sukriya "


----- ekacchai { AAWAZ }

http://eksacchai.blogspot.com

 

Softwares

इन्हें भी देखे

Registration on my Blog

Name:
Email Address:
Blog Url
Contact No.
RSS or ATOM feed of your blog

form mail

ब्लॉग सूची